खेत-खलिहान

पपीते की खेती कैसे करें, ज़्यादा मुनाफा कमाने के लिए अपनाएं ये विधि

नई दिल्ली: पपीते में वो सभी पोषक तत्व पाये जाते हैं, जो हमारे शरीर के कामकाज के लिए बेहतर है। यह एक ऐसा फल है जो स्वाद और पोषण से भरपूर होता है। पपीता विटामिन-ए, सी और के का खजाना होता है। ये दिल को स्वस्थ और मजबूत बनाने में सहायक होता है।

पपीते की खेती के लिए सबसे पहले नर्सरी में पौधे तैयार करें। एक हेक्टेयर के लिए 500 ग्राम बीज पर्याप्त है।  जिस स्थान पर नर्सरी हो उस स्थान की अच्छी जुताई-गुड़ाई करके खर पतवार निकाल लें। ध्यान रहे आपको स्थान वहीं चुनना है जहां न ज़्यादा तेज धूप हो और न ज़्यादा छाया हो। उत्तर भारत में पपीते का पौधा ज़्यादातर मार्च के महीने में लगाया जाता है। नर्सरी में पौधे की देखभाल आसानी से की जा सकती है।

पपीता :1200 रुपए से 2 लाख तक पहुंचाई आमदनी . - Krishi Khabar
PAPAYA’S BENEFIT

पपीते की खेती के लिए जलवायु और भूमि

पपीते की अच्छी खेती गर्म नमी युक्त भूमि पर करें। इसकी खेती अधिकतम तापमान 38 डिग्री से लेकर 44 डिग्री सेल्सियस तक उपयुक्त मानी जाती है। तापमान 5 डिग्री से कम नहीं होना चाहिए। लू से पपीते के पौधे को बहुत नुकसान होता है। इसकी खेती के लिए मिट्टी में क्षार और साथ-साथ अधिक पानी भी नहीं होना चाहिए।

और पढ़े-प्रेमी युगल ने एक- दूसरे से रचाई शादी, फिर मौत को लगाया गले

पपीते की खेती से कमाई

पपीते का एक स्वस्थ पेड़ करीब एक सीजन में 40 फल दे सकता है। यदि आप दो पेड़ों के बीच करीब 6 फिट का गैप रखें तो इस हिसाब से एक हेक्येयर में करीब 2250 पौधे लगा सकते हैं। इस हिसाब से आप एक हेक्टेयर में एक सीजन में करीब 900 क्विटंल पपीता पैदा कर सकते हैं। यदि आप शंकर किस्म के पपीते उगाते हैं तो और ज्यादा मुनाफा कमा सकते हैं। ऐसे ही आप 5 हेक्येटर भूमि पर पपीते की खेती कर लें तो एक सीजन में 10 लाख की कमाई कर सकते हैं

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button