ट्रेंडिंगन्यूज़

Sidhu Moose Wala Murder Case में लॉरेंस बिश्नोई ने किया बड़ा खुलासा- मैं ही हूं हत्या का मास्टर माइंड

नई दिल्ली: पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला आज भी लोगों के दिलों में जिंदा है. दुनिया के हर कोने में उनके गानों की गूंज सुनाई देती है. पंजाबी गीतकार शुभदीप सिंह सिद्धू उर्फ सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को हत्या कर दी गई थी. उनको मानसा जिले में उनके गांव मूसा के पास मारा गया था. तब उनकी गाड़ी पर बदमाशों ने करीब 30 राउंड फायरिंग की थी. उसी मामले में पुलिस जांच पड़ताल में लगी हुई है. मूसेवाला के मर्डर का खुलासा धीरे- धीरे साफ होता जा रहा है. कई लोग इस केस में पकड़े भी गए है. पुलिस लगातार पूछताछ में लगी हुई है.

इस केस में एक बड़ा खुलासा हुआ है कि सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड के पीछे गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई का ही हाथ था अब यह साफ हो गया है. पंजाब पुलिस के ADGP प्रमोद बान ने बताया है कि लॉरेंस ने कबूल कर लिया है कि मूसेवाला की हत्या की साजिश का मास्टरमाइंड वही था.

ADGP ने आगे बताया कि सिद्धू पर हमले की प्लानिंग पिछले साल अगस्त में बनाई गई थी. फिर तीन बार रेकी भी हुई. इसी साल जनवरी में भी मूसेवाला को मारने की कोशिश हुई थी. उस समय दूसरे शूटर्स को मारने के लिए भेजा गया था. लेकिन इस घिनौनी प्लानिंग में उन्हें कामयाबी नहीं मिल पाई थी. बिश्नोई ने मान लिया है कि कनाडा में रह रहे गैंगस्टर गोल्डी बराड़ और अपने दो साथियों के साथ मिलकर उसने इस मर्डर की साजिश रची थी.

ये भी पढ़ें- Sidhu Moose Wala SYL Song: हर तरफ सिद्धू मूसेवाला के गानों की गूंज, लेकिन हरियाणा में नहीं पसंद किया गया सान्ग, जानें क्या है कारण?

ADGP ने आगे यह भी कहा कि पुलिस ने मूसेवाला मर्डर केस में अबतक 13 लोगों को गिरफ्तार किया है. सहयोगी, हथियार देने वाले, आर्थिक मददगार सबको जोड़ा जाए तो अबतक 18 गिरफ्तारी हुई हैं. पुलिस इस मामले अच्छे जांच कर रही है और जल्द ही पूरे मामले के साजिश से पर्दा उठाएगी.

एडीजीपी प्रमोद ने बताया कि लॉरेंस ने ये भी मान लिया है कि दिल्ली की तिहाड़ जेल में उसके पास मोबाइल फोन था, जिससे वह अपने गुर्गों के संपर्क में रहता था. पुलिस ने गोल्डी बराड़ और उनके संपर्क में रहने वालों के पास से आठ ग्रेनेड, अंडर बैरल ग्रैनेड लॉन्चर, 9 डिटोनेटर, एक असॉल्ट राइफल और 20 गोलियां मिली थीं. इसके अलावा तीन देसी कट्टे, 36 गोलियां और ऐके सीरीज की राइफल का एक हिस्सा भी मिला था.

एडीजीपी प्रमोद एंटी गैंगस्टर टॉस्क फोर्स के मुखिया भी है. उन्होंने गुरुवार को एक और गिरफ्तारी की जानकारी भी दी. उन्होंने बताया कि मूसेवाला हत्याकांड के एक और आरोपी बलदेव उर्फ निक्कू को पकड़ा गया है. वह हरियाणा के सिरसा से है. मूसेवाला केस में फिलहाल लॉरेंस से पूछताछ जारी है. उसकी रिमांड 27 जून तक बढ़ाई गई है. 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button