ट्रेंडिंगन्यूज़बड़ी खबर

पीएम मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने तिरंगे की शक्ति की प्रशंसा की, जानें क्या बोले ?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Prime Minister Narendra Modi) ने शनिवार को पीएस आवास पर (Commonwealth 2022 games के सभी विजेताओं से मुलाकात की।सभी खिलाडियों को संबोधित करते हुए, पीएम मोदी ने कहा, “तिरंगे की शक्ति क्या है, हमने इसे कुछ समय पहले यूक्रेन में देखा है। तिरंगा न केवल भारतीयों के लिए बल्कि अन्य देशों के लोगों के लिए भी एक सुरक्षा कवच बन गया था।विशेष रूप से, भारत सरकार ने युद्धग्रस्त यूक्रेन में फंसे छात्रों को निकालने के लिए इस साल की शुरुआत में ऑपरेशन गंगा शुरू किया था।

इसी को लेकर प्रधान मंत्री ने कहा कि, आजादी के अमृत महोत्सव के तत्वावधान में ‘हर घर तिरंगा’ अभियान शुरू किया गया है ताकि, लोगों को तिरंगा घर लाने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके, और भारत की आजादी के 75वें साल को चिह्नित करने के लिए तिरंगा फहराया जा सके। इस अवसर पर हर जगह भारतीयों को अपने घरों में राष्ट्रीय ध्वज फहराने के लिए प्रेरित करने की अपील की गई है।पीएम ने कहा कि यह गर्व की बात है कि खिलाडियों की कड़ी मेहनत और प्रेरक उपलब्धि से देश ‘आजादी का अमृत काल’ में प्रवेश कर रहा है।हाल ही में संपन्न हुए राष्ट्रमंडल खेलों में भारतीय एथलीटों की उपलब्धियों की सराहना करते हुए, पीएम मोदी ने कहा कि, एथलीटों ने न केवल देश के लिए पदक जीते बल्कि ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ की भावना को मजबूत किया और हर क्षेत्र में युवाओं को प्रेरित किया।

आप देश को न केवल पदक देते हैं, न केवल जश्न मनाने का मौका देते हैं, बल्कि ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ की भावना को भी मजबूत करते हैं। आप देश के युवाओं को न केवल खेल में बेहतर करने के लिए प्रेरित करते हैं बल्कि, अन्य क्षेत्रों में भी,”
प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले कुछ हफ्तों में देश ने खेल के क्षेत्र में दो बड़ी उपलब्धियां हासिल की हैं. राष्ट्रमंडल खेलों में ऐतिहासिक प्रदर्शन के साथ देश ने पहली बार शतरंज ओलंपियाड का आयोजन किया है।

पीएम मोदी ने आगे कहा, ‘मुक्केबाजी हो, जूडो हो, कुश्ती हो, जिस तरह से बेटियों का दबदबा है, वह अद्भुत है। इस बार हमने पिछली बार की तुलना में चार नए खेलों में जीत का एक नया तरीका बनाया है। लॉन बाउल से लेकर एथलेटिक्स तक, अभूतपूर्व प्रदर्शन हुआ है। इस प्रदर्शन से देश में नए खेलों के प्रति युवाओं की रुचि काफी बढ़ने वाली है।”

ये भी पढ़ें: मुख्य सचिव ने किया विधानभवन में 15 अगस्त की तैयारियों का निरीक्षण, उप्र में 4 करोड़ झंडों का वितरण

पीएम मोदी ने कहा, “आप सभी वहां प्रतिस्पर्धा कर रहे थे, लेकिन करोड़ों भारतीय आपको यहां देख रहे थे। देर रात तक आपकी हर एक्टिविटी पर नजर रखी जा रही थी। आपके प्रदर्शन को देखने के लिए कई लोग अलार्म लगाकर सोते थे।”
उन्होंने कहा कि देश ने न केवल सफलतापूर्वक शतरंज ओलंपियाड की मेजबानी की बल्कि शतरंज में अपनी समृद्ध परंपरा को जारी रखते हुए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिया। पीएम ने कहा, “मैं शतरंज ओलंपियाड में भाग लेने वाले और पदक जीतने वाले सभी खिलाड़ियों को भी बधाई देता हूं।”

यह पहली बार है जब प्रधानमंत्री ने बर्मिंघम में शानदार प्रदर्शन के बाद राष्ट्रमंडल खेलों के विजेताओं के साथ मिलकर बातचीत की। इससे पहले पीएम मोदी ने टोक्यो 2020 ओलंपिक खेलों के पदक विजेताओं के दल की मेजबानी की थी।
पीएम मोदी ने पहले ही देश के लिए मेडल जीतने वाले हर एथलीट को शुभकामनाएं दी थीं। इस मुकाबले में पदक जीतने के बाद प्रधानमंत्री ने भारतीय एथलीटों को बधाई देने के लिए अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल का सहारा लिया था। प्रधानमंत्री ने उन लोगों को भी शुभकामनाएं भेजीं जो खेलों में कड़ी मेहनत के बाद विफल रहे।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button