ट्रेंडिंगन्यूज़हैलो ज़िन्दगी

Sleeping Tips: क्या आप भी नींद लेने के लिए ज्यादा डोज में कर रहे दवाइयों का सेवन, तो हो जाएं सावधान

नई दिल्ली: क्या आपको नींद आने में दिक्कत होती है? क्या आप पूरे दिन थकान महसूस करते हैं? नींद नहीं आना भी एक बड़ी समस्या है इसलिए बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें। जाहिर है पर्याप्त नींद नहीं लेने का सीधा असर सेहत पर पड़ता है। आमतौर पर अगर आपकी नींद का चक्र सही है, तो आपको बिस्तर पर लेटने के 10-20 मिनट के भीतर नींद आ जानी चाहिए। अगर ऐसा नहीं हो रहा है, तो आपको नींद नहीं आने की बीमारी हो सकती है।

आपको बता दें कि पर्याप्त नींद लेने से आपको थकान, कमजोरी, सुस्ती, तनाव और शरीर में दर्द के अलावा कई गंभीर बीमारियों जैसे हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, दिल का दौरा, हार्ट फेल होना या स्ट्रोक का भी खतरा बढ़ जाता है। हमारे जीवन में कई ऐसी गंदी आदतें हैं, जो हमारी नींद में खनन डालती हैं। ऐसी परिस्थिति में इन् आदतों को तुरंत छोड़ देना चाहिए नहीं तो स्लीपिंग पिल्स भी अपना असर दिखाना बंद कर देगी। आइए जानते हैं क्या है वो आदतें जिससे हमारी नींद प्रभावित होती है।

Sleeping Tips: भूखे सोने से नींद में आती है रूकावट

रिसर्च में पाया गया है कि आप कोई स्पेशल डाइट प्लान फॉलो कर रहे हों या हो सकता है आपका पेट भरा-भरा लग रहा हो। बेशक आपको भूख न लगे फिर भी आपको रात को बिना कुछ खाए नहीं सोना चाहिए। रात को भूखे सोन से आपको कभी भी अच्छी नींद नहीं आएगी।

Sleeping Tips: दिन में सोने से सेहत पर पड़ता है असर

अक्सर देखा गया है कि समय मिलते ही लोग दिन में भी सो जाते हैं। जाहिर है, इससे रात में आपकी नींद की गुणवत्ता खराब हो सकती है। यदि आप दिन में नींद महसूस करते हैं, तो इसका मतलब है कि आपको थोड़ी स्ट्रेचिंग करनी चाहिए। इससे नींद भी नहीं आएगी और ऑक्सीजन का प्रवाह बढ़ेगा, रक्त परिसंचरण में सुधार होगा और आप खुद को एक्टिव महसूस करेंगे।

ये भी पढ़ें- Jewellery For Garba: गरबा नाइट पर आपको भी दिखना है खास, तो ट्राई करें खूबसूरत ड्रेस के साथ ये ज्वैलरी

Sleeping Tips: सुबह को नाश्ता स्किप कर देना

नाश्ते का रात को सोने से कोई संबंध नहीं है। लेकिन, सुबह का नाश्ता आपके शरीर को जगाता है कि अब उसका काम शुरू हो गया है और वो उसी हिसाब से काम करना शुरू कर देता है। इसके अलावा नाश्ता मेटाबॉलिज्म को भी कंट्रोल रखता है। जब आप भोजन के बीच बहुत लंबा ब्रेक लेते हैं या अपना नाश्ता छोड़ देते हैं, तो दिमाग सोचता है कि उसे भूख लग सकती है।

सोने से पहले मीठा खाना

शुगर का काम ब्रेन को एक्टिव करना है और रात में दिमाग एक्टिव रहेगा, तो ऐसे में नींद कैसे आएगी? यदि आप सोने से पहले चॉकलेट खाते हैं, तो यह अनिंद्रा का कारण बन सकता है क्योंकि इसमें कैफीन होता है।

पेट के बल सोने से नींद भंग होती है

एक रिपोर्ट के मुताबिक, हर व्यक्ति की अपनी पसंदीदा नींद की पोजीशन होती है। सबसे अच्छी नींद तब आती है, जब पीठ के बल या करवट लेकर सोते हैं। पेट के बल सोना सबसे खराब मानी जाती है क्योंकि इस स्थिति में रीढ़ की हड्डी और मांसपेशियां आराम नहीं करती हैं साथ ही, छाती दब जाती है और सांस लेने में दिक्कत होती है। पेट के बल सोने से परहेज करें।

बेडरूम गंदगी

अगर आप अपने आस-पास की गंदगी की परवाह नहीं करते हैं, तो आपका दिमाग भी सही तरह काम नहीं करता है। ऐसा माना जाता है कि दिमाग आस-पास की हर चीज को याद रखता है और अगर सोने से पहले आपने वो चीज देखी थी जो बिखरी पड़ी थी, तो आपकी नींद भी ऐसी परिस्थिति में अस्त-व्यस्त हो जाएगी।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button