न्यूज़सेहतनामाहैलो ज़िन्दगी

इस लेख को पढ़ने के बाद गोलगप्पे खाने से नहीं रोक सकेंगे आपके पति, जान लीजिए फायदे

गोलगप्पा या पानी पुरी खाना भला किसे पसंद नहीं होगा। इसका तो नाम सुनते ही मुंह में पानी आ जाता है। जो लोग गोलगप्पा खाते हैं, उन्हें यह जानकर हैरानी होगी कि गोलगप्पा सिर्फ स्वाद में ही चपपटा नहीं होता बल्कि यह वजन भी कम करने में मदद करता है। सुनकर हैरान तो नहीं हो गए आप? यह पूरी तरह से सच है। ऐसे में जिनका वजन ज्यादा है, वह आज से ही इसे खाना शुरू कर दें।

इतना ही नहीं, पानी पुरी खाने के सेहत पर और भी कई लाभ होते हैं। इसके सेवन से आपका हाजमा दुरुस्त रहता है। इसका चटापटा पानी कई मसालों से तैयार होता है, जो एसिटिडी और पेट दर्द जैसी समस्‍याओं का दूर करता है। मोटापे को कम करने के लिए लोग क्या-क्या नहीं करते। जिम में पसीना बहाने से लेकर भूखे रहने तक के टोटके अपनाते हैं लेकिन मोटापा नहीं जाता है. लेकिन क्या पानी पुड़ी मोटापा पर लगाम लगाने में रामवाण साबित हो सकता है विशेषज्ञ की मानें तो ऐसा हो सकता है।

गोलगप्पा

गोलगप्पा खाने से बढ़ते वजन की समस्या दूर होती है। इसमें मीठा न हो और पुदीना, हींग, नींबू व कच्चा आम मिला दिया जाए, तो वजन नहीं बढ़ेगा। पानी में टमाटर का भी उपयोग न किया गया हो तो बेहतर है। साथ ही गोलगप्पे को रवे की बजाए आटे से बनाना व कम तलना फायदेमंद रहेगा।

पानी पुड़ी में जो पानी इस्तेमाल किया जाता है कि उसमें जीरा, पुदीना और इमली मिलाया जाता है. पुदीना पानी और जीरा अपने आप में वजन कम करने के लिए जाना जाता है। पुदीना पानी हेल्दी लाइफ में बहुत मदद करता है। यह पाचन शक्ति को मजबूत करता है और इम्युनिटी को भी बढ़ाता है. मिंट में फाइबर, विटामिन ए, आइरन, मैंगनीज और फॉलेट भी पाया जाता है। गोलगप्पा से मुंह में छाले और एसिडिटी को भी रोका जा सकता है. साथ ही डायबिटीज के मरीजों के लिए भी यह फायदेमंद साबित हो सकता है।

पानी पुरी

पानी पुरी या फिर गोल गप्पे खाना आपके स्वास्थ के लिए बहुत ही हानिकारिक सिद्ध हो सकते हैं। इस लिए आप को ज्यादा इन का सेवन नहीं करना चाहिए। ज्यादा गोल गप्पे खाने से आप को कई प्रकार की बीमारियां हो सकती है और आप का पाचन तंत्र भी धुरुसत हो सकता है। इस का ज्यादा सेवन करने से आपको ये निम्न प्रकार की समस्या भी पैदा हो सकती है
गोलगप्पे खाने के लिए दोपहर का समय सबसे सही होता है। शाम के समय इसे खाने से वजन बढ़ने की आशंका रहती है। साथ ही कसरत करने से पहले या बाद में गोलगप्पे खाना भी नुकसान करता है।

दो तरह के गोलगप्पे होते हैं रवे और आटे वाले लेकिन आप आटे के गोलगप्पे ही खाएं। खासकर वे लोग जो वजन कम करने के लिए मेहनत कर रहे हैं, वे रवे की बजाय आटे के ही गोलगप्पे खाएं। स्टफिंग में छोले या मटर की बजाय मूंग या चने की दाल का प्रयोग ज्यादा फायदा पहुंचाएगा।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button